चार पुलिस कर्मियों का ऐसा जुनून, संवार रहे सैकड़ों अनाथ बच्चों की जिंदगी, देखें वीडियो

रायपुर। मानवता अभी भी जिंदा है। कहीं-न-कहीं लोगों में मानवीय संवेदना आज भी बची है, वरना आज दुनिया फना होने की ओर होता। यही नेक और फरिश्तों की वजह से कायनात चल रही है। कुछ लोग जहां ऐसे लोगों को बदनाम करने में लगे रहते हैं, वहीं इनका यह नेक काम मिसाल कायम कर देता है और उन लोगों के चेहरे पर तमाचा जड़ने का काम करता है।

जी हां, हम बात कर रहे हैं चार ऐसे पुलिस जवानों की, जो सैकड़ों अनाथ, दीनहीन, घुमंतू बच्चों की जिंदगी संवारने में लगे हैं। चार पुलिस कर्मी महेश नेताम, जितेन्द्र नाग, धनंजय गोस्वामी और सुनील पाठक रायपुर के टिकरापारा थाने में पदस्थ हैं, जिन्होंने इलाके के घुमंतू और अनाथ बच्चों के लिए एक प्रयास शैक्षिक संस्था की स्थापना की है, जिसमें करीब 150 से 200 बच्चे मुफ्त में पढ़ाई के साथ‑साथ तकनीकी ज्ञान हासिल कर रहे हैं। पिछले साल से चल रही इस संस्था की जानकारी जब पुलिस विभाग के आला अधिकारियों को मिली तो वे खुद प्रयास संस्था जाकर बच्चों से मिले और वहां की व्यवस्था का जायजा लिया।

बच्चों से मिलने के बाद उन्होंने कहा कि हमसे जो भी हो सकेगा, हम मदद करने को तैयार हैं। प्रयास संस्था की शुरुआत करने वाले चारों जवानों ने बताया कि ड्यूटी के दौरान कुछ घुमंतू बच्चों को देखकर उनके पुनर्वास और पढ़ाई‑लिखाई का जिम्मा लेकर इस संस्था की स्थापना की, जिसका लगभग एक साल हो गया और दिन प्रतिदिन बच्चों की संख्या में इजाफा हो रहा है। 

93 Views

You cannot copy content of this page