नकारी कांग्रेस सिवा धूर्तता के कुछ नही कर रही : सुनील सोनी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और सांसद सुनील सोनी ने कांग्रेस नेताओं पर प्रदेश की जनता से लगातार झूठ बोलकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाया है। मनमाने फैसले लेकर तुगलकशाही कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल चला रहे हैं और कांग्रेस के लोग केंद्र सरकार के खिलाफ मिथ्या प्रलाप कर रहे हैं। सांसद श्री सोनी ने केंद्र सरकार द्वारा कोरोना संकट से निपटने के लिए प्रदेश को मुहैया कराई गई तमाम प्रकार की सहायता का ब्योरा देते हुए कहा कि कांग्रेस संकट के इस दौर में भी केंद्र सरकार पर मदद नहीं करने का झूठा आरोप लगाकर ओछी राजनीति से बाज नहीं आ रही है।
भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व सांसद श्री सोनी ने बताया कि केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 21,58,961 हितग्राहियों के लिए 432 करोड़ रुपए, प्रमं जनधन योजना के 78,57,012 खाताधारकों के लिए 393 करोड़ रुपए, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम (एनएसएपी) के 8,52,275 पेंशनर्स के लिए 43 करोड़ रुपए, ईपीएफओ के 8,441 हितग्राहियों के लिए 17 करोड़ रुपए, कर्मचारियों के ईपीएफ की 24 प्रतिशत हिस्सेदारी के 12 करोड़ रुपए, राज्य आपदा प्रबंधन कोष (एसडीआरएफ) के लिए 216 करोड़ रुपए, कोरोना संकट से निपटने स्वास्थ्य मंत्रालय के लिए 56 करोड़ रुपए, और विभिन्न केंद्रीय करों के लिए 15वें वित्त आयोग के 41 प्रतिशत अंतरण के लिए 1574 करोड़ रुपए (कुल 2,743 करोड़ रुपए) दिए गए हैं। श्री सोनी ने बताया कि प्रधानमंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना के तहत 1,96,45,506 हितग्राहियों के लिए 98,228 मीट्रिक टन अनाज, 20,61,680 हितग्राहियों के लिए 6,045 मी. टन दलहन और उज्ज्वला योजना के तहत 11,92,348 सिलेंडर्स दिए गए हैं। इसी तरह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से 85,915 एन-95 मास्क, 16,950 पीपीई किट्स, 08 लाख हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स और 04 शासकीय परीक्षणशालाएं स्वीकृत की गई हैं।
भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व सांसद श्री सोनी ने कहा कि प्रदेश सरकार खुद तो इस महामारी के खिलाफ जारी जंग में फिसड्डी साबित हो चुकी है और हर दूसरे दिन केंद्र सरकार से पैसों की मांग कर अपनी विफलता को ढंकने के लिए केंद्र सरकार को कोसने में लगी है। प्रदेश सरकार ने अपने खजाने और मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा राशि का एक धेला तक कोरोना की रोकथाम और लॉकडाउन से प्रभावित परिवारों की सहायता में खर्च नहीं किया है और डींगें हाँकने में अव्वल है। श्री सोनी ने लॉकडाउन अवधि में शराब दुकानें खोलने के लिए केंद्र सरकार पर तोहमत जड़ने पर प्रदेश सरकार और कांग्रेस नेताओं को आड़े हाथों लिया और पूछा कि लॉकडाउन पहले दो चरणों में प्रदेश सरकार शराब दुकानों पर रोक के लिए बार‑बार समय सीमा किसके कहने पर तय कर रही थी? छत्तीसगढ़ में शराब दुकानें खुलने के बाद तमाम सरकारी व्यवस्था के ध्वस्त होने की जिम्मेदारी से प्रदेश सरकार अपना पल्ला नहीं झाड़ सकती। लॉकडाउन‑3 के लिए गाइडलाइन जारी करते समय केंद्र सरकार ने और भी कई निर्देश दिए थे लेकिन प्रदेश सरकार ने शराब दुकानों को ही खोलने में आतुरता क्यों दिखाई? श्री सोनी ने चेतावनी दी कि प्रदेश सरकार अपने मतलब साधने के लिए केंद्र सरकार की आड़ लेने की राजनीतिक धूर्तता का परिचय देने से बाज आए अन्यथा प्रदेश की समझदार जनता समय आने पर माकूल जवाब देगी।

334 Views

You cannot copy content of this page