हैदराबाद और चेन्नाई से ट्रेन से 113 श्रमिक छत्तीसगढ़ सकुशल पहुचे, कबीरधाम जिले के 63 श्रमिक शामिल

 

कवर्धा-राजनांदगांव 19 मई 2020। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सतत प्रयासों से लॉकडाउन में अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की लगातार वापसी हो रही है। आज दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन से  हैदराबाद और चेन्नई के श्रमिकों की सकुशल राजनांदगांव वापसी हुई। इसमें राजनांदगांव और कवर्धा जिले के श्रमिक थे। आज नागलपल्ली हैदराबाद से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 113 श्रमिकों की वापसी हुई। इसमें 50 राजनांदगांव जिले और 63 कवर्धा जिले के श्रमिक आए। वहीं चेन्नई से आने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 195 श्रमिक राजनांदगांव आए। इसमें 187 राजनांदगांव जिले और 8 कवर्धा जिले के श्रमिक हैं। लॉकडाउन के कारण पिछले दो माह से अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों ने सकुशल छत्तीसगढ़ पहुंचने की व्यवस्था और संवेदनशील मदद के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार व्यक्त किया।

कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में ट्रेन के राजनांदगांव पहुंचने से पहले और जाने के बाद प्लेटफार्म को सेनेटाईज किया गया। शारीरिक दूरी का पालन करते हुए ट्रेन से श्रमिकों को उतारा गया। राजनांदगांव जिले के श्रमिकों को रेल्वे स्टेशन से बस द्वारा रैन बसेरा ले जाया गया और वहां उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। कवर्धा जिले के श्रमिकों का रेल्वे स्टेशन में ही स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें बस से रवाना किया गया। स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद उन्हें भोजन भी कराया गया।

कवर्धा जिले के ग्राम कामठी निवासी दिनेश ने बताया कि 4 महीने पहले रोजी-मजदूरी करने के लिए चेन्नई गए थे। परिवार में कुल 6 सदस्य हैं, 5 माह की छोटी बच्ची भी है। लॉकडाउन होने से वे फंसे हुए थे। घर वापस आने का कोई जरिया नहीं था। लेकिन राज्य सरकार ने घर तक  वापस लाने में जो मदद की है वो हम कभी नहीं भूलेंगे। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा घर आने के बाद अच्छा लग रहा है अब वापस नहीं जाएंगे और गांव में ही रहकर काम करेंगे।

राजनांदगांव जिले के ग्राम मुढ़ीपार निवासी श्री घनश्याम ने बताया कि वे अपनी पत्नी और बच्चे के साथ हैदराबाद गए थे। लॉकडाउन होने के कारण सब काम बंद हो गया। अब वे घर आना चाहते थे। उन्होंने कहा आज मैं राज्य सरकार की मदद से घर वापस आ गया हूं। जिससे मुझे बहुत खुशी मिल रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। छुईखदान विकासखंड के ग्राम गाड़ाघाट निवासी तुलसी राम चेलक ने बताया कि चेन्नई गए दो ही महीने हुए थे और लॉकडाउन हो गया। जिसके कारण पूरा परिवार घर आना चाहता था। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने वापस घर आने के लिए अच्छी व्यवस्था की है और इस व्यवस्था के कारण हमारा सफर रोमांचक रहा। ट्रेन में ही भोजन, पानी और नाश्ते की व्यवस्था की गई थी। ट्रेन के सफर में सभी चीजों का पूरा ध्यान रखा गया। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शुक्रिया कहा।
इस अवसर पर जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी, स्वास्थ्य विभाग की टीम, पुलिस विभाग एवं रेल्वे पुलिस बल के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

298 Views

You cannot copy content of this page