ये कैसा जनरल प्रमोशन,सरकार का प्राइवेट छात्रों से भेदभाव — अभिषेक

ये कैसा जनरल प्रमोशन,सरकार का प्राइवेट छात्रों से भेदभाव आधे छात्रों का प्रमोशन करवा सत्ता पक्ष छात्र छात्र संगठन फलाना भइया जिंदाबाद कर खुद की तारीफ में कसीदे पढ़ रही
एक तरफ वर्तमान सत्ता सरकार के छात्र संगठन प्रदेश भर के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिलाने को लेकर भ्रम रचते रहे,और दूसरी तरफ सरकार ने दुआ भेदी निर्णय लेते हुए आधे का प्रमोशन और आधे का परीक्षा लेने का आदेश जारी कर दिया,और अभी भी अपने खुद की पीठ ठोक तारीफ कर रहे सत्ता पक्ष छात्र संगठन छात्रों की सही रुप से लोगो को ये नही बता पा रहे कि ये केवल मनचाहा प्रमोशन नही एक आंतरिक मूल्यांक के आधार में आपके नम्बर तय होने वाले हैं, एक तरफ फ़र्स्ट ईयर और सेकंड ईयर रेगुलर को प्रमोशन देने की घोषणा से कुछ और प्राइवेट छात्रों से छलावा हो गया,क्या क्या प्राइवेट के छात्र परीक्षा दिलाएंगे तो कोरोना आदमी देख कर आयेगा की ये रेगुलर हैं कि ये प्राइवेट,जबकि सरकार और प्रमोशन के मांग करने वाले सन्गठन को पता होना था कि रेगुलर से ज्यादा दर में प्राइवेट छात्रों की संख्या होती हैं,इस प्रकार हजारो की संख्या में प्राइवेट अपने आप को ठगा महसूस कर रही जो एकदम गलत हैं, क्या सरकार अगले साल छात्र संघ चुनाव कराने रेगुलर छात्रों की संख्या बढ़ा उन्हें प्रमोट कर अपने पाले में लेने की तैयारी की है, जो भी ऐसे भेदभाव पूर्ण निर्णय गलत हैं, ऐसे में छात्रों की मानसिकता भ्रमित होती हैं, और प्रदेश भर के प्राइवेट छात्रों में भारी विरोध और गुस्सा हैं, कही यह स्थिति आंदोलन का रूप न ले ले,अतः समय रहते सरकार प्राइवेट के छात्रों को भी मापदंड तय कर प्रमोशन देने का निर्णय ले।

879 Views

You cannot copy content of this page