केंद्र सरकार देश के निर्माण की दिशा में बड़े फैसले कर आने वाले वर्षों में भी मील के पत्थर स्थापित करेगी : उसेंडी

कवर्धा। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने भाजपा के घोषणापत्र में व्यक्त संकल्पों पर काफी तेज़ी से काम कर भाजपा की वैचारिक अवधारणा को साकार किया है और स्वाभिमानी, समृद्ध और शक्तिशाली देश के निर्माण की दिशा में आने वाले वर्षों में भी मील के पत्थर स्थापित करने का काम होगा। श्री उसेंडी शनिवार को यहाँ कुशाभाऊ ठाकरे स्मृति परिसर में भाजपा द्वारा आहूत जिला जनसंवाद कार्यक्रम के तहत कवर्धा ज़िला की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर औषधीय पादप बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष रामप्रताप सिंह ने भी अपने विचार रखे। विदित रहे, प्रदेश भाजपा द्वारा केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूर्ण होने पर जिला स्तर पर इन सभाओं का आयोजन रखा जा रहा है और यह सभा इस क्रम में शनिवार की दूसरी सभा थी।
भाजपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष उसेंडी ने केंद्र सरकार के पहले कार्यकाल में हुए कार्यों और दूसरे कार्यकाल में लिए गए बड़े फैसलों की चर्चा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश में अभूतपूर्व विश्वास का वातावरण निर्मित हुआ है और भारत की आन‑बान‑शान विश्व मंच पर स्थापित हुई है। मोदी एक वैश्विक नेता के रूप में उभरे हैं और भारत विश्व का नेतृत्व करने की क्षमता से भरपूर नज़र आ रहा है। कोरोना संकट का दूरदर्शितापूर्ण फैसलों से डटकर मुक़ाबला करके प्रधानमंत्री मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की परिकल्पना रखकर स्वदेशी अपनाने पर ज़ोर दिया है। उसेंडी ने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री  मोदी देश की तक़दीर और तस्वीर सँवारने का काम कर रहे हैं, वहीं छत्तीसगढ़ में क़ाबिज कांग्रेस की राज्य सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटलजी की कल्पना के भव्य छत्तीसगढ़ को रसातल में ले जाने का काम किया है। गंगाजल हाथ में लेकर कसमें खाने के बाद भी प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश के किसानों, आदिवासियों, युवकों, मज़दूरों, महिलाओं, तेंदूपत्ता संग्राहकों व उनके परिजनों समेत सभी वर्गों के साथ वादाख़िलाफ़ी कर दग़ाबाजी की। श्री उसेंडी ने प्रदेश में विकास के काम ठप होने, माफिया राज‑गुंडा राज कायम होने की बात कहकर प्रदेश सरकार की विफलताओं के लेकर चैतन्य जनमत के निर्माण में जुट जाने की अपील भी भाजपा कार्यकर्ताओं से की।
औषधीय पादप बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सिंह ने इस मौके पर जनसंघ‑भाजपा की वैचारिक व राजनीतिक यात्रा के इतिहास पर विस्तार से प्रकाश डाला और डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी , पं. दीनदयाल उपाध्याय व पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटलबिहारी वाजपेयी का स्मरण करते हुए उनके प्रति आदरांजलि अर्पित की। सिंह ने मौज़ूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के पहले कार्यकाल और दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष की उपलब्धियों, ऐतिहासिक, क्रांतिकारी व साहसिक निर्णयों की चर्चा कर कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार की उपलब्धियों के चलते देश ने एक नई करवट ली, देशवासियों में एक नए आत्मविश्वास का संचार हुआ और मोदी न केवल भारत में, अपितु विश्व मंच पर सशक्त नेतृत्व के बल पर यशस्वी प्रधानमंत्री के रूप में उभरे। सिंह ने स्वच्छता अभियान, आर्थिक आधार पर सवर्ण आरक्षण, राम मंदिर निर्माण, धारा 370 व अनुच्छेद 35‑ए की समाप्ति, नागरिकता संशोधन क़ानून, तीन तलाक़ क़ानून आदि की चर्चा करते हुए कोरोना संकट को अपने लिए एक अवसर में परिणत कर आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा में प्रधानमंत्री मोदी की परिकल्पना पर प्रकाश डाला। अपने संबोधन में सिंह ने मंगलवार को भारत‑चीन सीमा पर लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के विश्वासघाती हमले में शहीद हुए सेनाधिकारियों व जवानों को अपनी श्रद्धांजलि भी अर्पित की।
सभा की शुरुआत भाजपा ज़िला अध्यक्ष अनिल सिंह के संबोधन से हुई। राजनांदगांव के संसद संतोष पाण्डेय ने भी अपने विचार रखे। भाजपा वर्चुअल रैली के प्रदेश सहसंयोजक भूपेंद्र सवन्नी ने सभा की कार्यवाही संचालित करते हुए प्रास्ताविक भाषण दिया। कार्यक्रम के अंत में भाजपा सहकारिता प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष अशोक बजाज ने सबको आत्मनिर्भर भारत की संरचना का संकल्प दिलाया। आभार प्रदर्शन पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष रामकुमार भट्ट ने किया। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री (संगठन) पवन साय, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व सांसद अभिषेक सिंह, आईटी सेल के प्रदेश संयोजक दीपक म्हस्के, पूर्व विधायक मोतीराम चंद्रवंशी, अशोक साहू, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा, संतोष पटेल, महामंत्री गोपाल साहू, दुर्गेश ठाकुर, नितेश अग्रवाल, राकेश शर्मा, देवकुमारी चंद्रवंशी, विदेशीराम धुर्वे चंद्रप्रकाश चन्द्रवंशी सहित हजारों की संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता वर्चुअली जुड़े थे।

409 Views

You cannot copy content of this page