निर्माण कार्य मे प्रगति नही होने पर राजानवागांव सचिव को अल्टीमेटम

 

कवर्धा, 11 जुलाई 2020। विकासखण्ड बोड़ला के अंतर्गत कराये जा रहे गौठान विकास कार्य एवं धान चबूतरा के निर्माण की गुणवत्ता देखने जिला पंचायत सीईओ ने निरीक्षण किया। बोड़ला क्षेत्र में सघन निरीक्षण के दौरान ग्राम राजनवागांव, तारो, खैरबनाकला, महराजपूर, छपरी जैसे मैदानी क्षेत्र से लेकर रेंगाखार उसरवाही, जामुनपानी, पंडरीपानी, लोहारीडीह एवं बोदा 47 जैसे विभिन्न ग्रामो में कराए जा रहें कार्यो का अवलोकन किया गया है।

छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना सुराजी गांव अभियान के तहत गौठान विकास के कार्य में अपेक्षाकृत प्रगति नहीं मिलने के कारण राजानवागांव के सचिव श्री घनश्याम तिलकवार एवं ग्राम रोजगार सहायक को मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत कबीरधाम श्री विजय दयाराम के. ने कड़ी नाराजगी जताई है। साथ ही चेतावनी दी गई की निर्धारित समय में कार्य पूर्ण नहीं होने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी तथा क्षेत्र के इंजीनियर एवं सीईओ जनपद पंचायत को कड़े निर्देश देते हुए कहा गया कि आगामी एक सप्ताह के भीतर धान चबूतरा केन्द्र एवं गौठान विकास कार्य को पूरी गुणवत्ता के साथ पूर्ण किया जाए। ग्राम तारों में निर्माणाधीन आंगनबाड़ी भवन एवं गौठान का निरीक्षण किया गया। गौठान में पशुधन के लिए शासन के दिशा-निर्देश अनुसार पेयजल, छाया, चारा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश सचिव, सरपंच, ग्राम रोजगार सहायक के साथ क्षेत्र के इंजीनियर को दिये गए। ग्राम महराजपूर में बनाये जा रहे धान चबूतरा का भी अवलोकन किया गया तथा डाईट केन्द्र का निरीक्षण करते हुए प्राचार्य को निर्देशित किया गया की उपलब्ध भूमि में अधिक से अधिक वृक्षारोपण कराया जाए। ग्राम जुनवानी में धान चबूतरा का निरिक्षण करते हुए सीईओं जिला पंचायत ने कहा कि आगामी सप्ताह अंत तक धान चबूतरा को निर्धारित मापदण्ड अनुसार पूर्ण किया जायेगा। वन ग्राम नागवाही, रोल में बनाये जा रहें गौठानों का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया की गौठान में पानी की उपलब्धता हेतु पम्प की आवश्यकता है इसके लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देशित करते हुए कहा गया कि क्रेडा विभाग के साथ समन्वय करते हुए 14वें वित्त योजना से सोलर पम्प स्थापित कर आवश्यकताओं की पूर्ति की जाए। ग्राम रोल के गौठान में ऊपर क्षेत्र से आने वाले पानी को रोकने के लिए एक डबरी बनाया जाए जिसे पशुधन हेतु उपयोग किया जा सकें। इस हेतु संबंधित इंजिनियर को कार्य योजना तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गए। ग्राम खम्हरीया, भेलवाटोला में कराये जा रहे गौठान विकास कार्य का भी निरीक्षण किया गया। रेंगाखारकला में निर्माणाधीन धान चबूतरा कि गुणवत्ता के संबंध में सरपंच, सचिव से चर्चा की गई। उन्हें बताया गया कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से स्वीकृत इन कार्यो को समयावधि में पूरा किया जाना है तथा गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए कार्य कराया जाए। ताकि धान चबूतरा में बरसात का पानी रूकने जैसी समस्या न हों। बोदा 47 के गौठान में विकास कार्य का निरीक्षण किया गया, वर्मी शेड एवं नाडेफ टैंक को यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये गए।सभी मैदानी कर्मचारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा गया की सभी गौठान को आजीवन के कार्यों से जोड़ा जाए। मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हो और महिला स्व सहयता समहू की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।

सकरी नदी को पुराने रूप में लाने के लिए रोजगार गारंटी योजना से होगा और अधिक कार्य

अपने निरीक्षण के दौरान  विजय दयाराम के. ने सकरी नदी पूर्णोद्धार योजना के संबंध में अधिकारियों के साथ चर्चा की। ग्राम छपरी स्थित रपटा कम कॉज वे, में जमा हुए गाद को साफ कर नदी के बहाव को पुराने रूप मे लाने हेतु विभाग के तकनीकी अधिकरियों से चर्चा की गई । इसी तरह ग्राम चिखली ‚राजानवागांव सहित सकरी नदी के बहाव क्षेत्र में आने वाले रपटा एवं कॉज वे में जमा हुए गाद को साफ करने के संबंध में कहा गया की महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से इस पर विस्तृत कार्य योजना बनाई जाए जिससे की गाद निकासी कर सकरी नदी को उसके पूराने रूप में लाया जा सके और इस कार्य से ग्रामीणों को रोजगार का अवसर उपलब्ध हो। साथ ही नदी कटाव की बड़ी समस्या का समाधान हो सके। सकरी नदी के बहाव क्षेत्र का अवलोकन करते हुए सीईओ जिला पंचायत ने स्थानीय ग्रामीणों से चर्चा कर उनके सुझाव लियें। निरीक्षण के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बोड़ला, अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी बोड़ला के साथ जिला पंचायत एवं विकासखण्ड बोड़ला के अधिकारी, कर्मचारी के साथ संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव एवं ग्राम रोजगार सहायक उपस्थित रहें।

190 Views

You cannot copy content of this page