धरमपुरा मामले पर सतनामी समाज युवा प्रकोष्ट ने दिया ज्ञापन

 

कवर्धा-ग्राम धरमपुरा में सतनामी समाज के आस्था के प्रतीक जैतखाम को कुछ सदयँत्र कारी व्यक्ति के द्वारा समाज को आहत करने व समाज को आक्रोशित करने हेतु आपसी भाई चारा को बिगाड़ने के मकसद से जैतखाम को जलाने का प्रयास किया गया जो कि बहुत ही निंदनीय घटना है। सतनामी समाज सर्व धर्म समभाव के मकसद से हर जाति वर्ग पंथ धर्म का सम्मान करती है सभी का अपना अपना आस्था लगा होता है ऐसे में किसी समाज को चिन्हाकित कर के बार बार समाज के ऊपर घात किया जा रहा है जो कि पूर्णतः गलत है।ग्राम धरमपुरा में दिनांक 4 जनवरी को आधीरात सदयँत्र कर के जिस प्रकार से समाज के ऊपर प्रहार किया गया यह कृत मानवीयता को शर्मसार करती है पूरा प्रदेश इस कृत्य से आहत है और सतनामी समाज इस विषय मे खिलेश बंजारे प्रदेश संयोजक के नेतृत्व में पुलिस अधीक्षक कार्यलय में इस विषय पर ज्ञापन दिया गया।

प्रदेश सतनामी समाज युवा प्रकोष्ट छत्तीसगढ़ इस विषय पर निष्पक्ष जांच व अपराधी के विरुद्ध दण्डनीय कार्यवाही करने की मांग करती है प्रदेश अध्यक्ष दीपिक मिरी ने बताया कि प्रशासन अगर इस विषय को गंभीरता से नही लेती है तो जल्द से जल्द उग्र आंदोलन किया जाएगा तथा प्रदेश प्रवक्ता नरेन्द्र बोरे ने बताया कि यह घटना सोची समझी साजिश है जिसे शासन को इसके पीछे के सदयँत्र करिलोगों को सामने लाकर बेपर्दा करने की बात कही वही पूरे समाज मे इस घटना के विषय मे आक्रोष व्यक्त है अगर जल्द से जल्द इस विषय मे उचित कार्यवाही नही होती तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। ज्ञापन में खिलेश बंजारे प्रदेश संयोजक, विकास कुर्रे जिला सह संयोजक, जितेन्द्र लहरे,अन्नु टण्डन, हितेन्द्र पात्रे, राजू कुर्रे अन्य युवा प्रकोष्ट के कार्यकर्ता सम्मिलित हुए।

 

307 Views

You cannot copy content of this page