अंधे कत्ल की गुत्थी चंद घंटे में सुलझाने मे मिली सफलता

कवर्धा। भोजली तालाब के पास एक अज्ञात युवक का अधजला हुआ शव मिलने की सूचना पर थाना कवर्धा पुलिस बल घटनास्थल पर तत्काल पहंुचकर वरिष्ठ अधिकारीयो को घटना की सूचना दिया गया, जिस पर त्वरित संज्ञान लेते हुये पुलिस अधीक्षक महोदय, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं उप पुलिस अधीक्षक स्वयं घटनास्थल पहुचकर स्नाईफर डॉग, एफएसएल की टीम व फोटोग्राफर तथा सायबर टीम को बुलवाया गया। मृतक के शव का षिनाख्तगी हेतु आसपास के लोगो से पूछताछ कर अज्ञात व्यक्ति के संबंध में जानकारी जुटाने का प्रयास किया गया। जिस पर सफलता प्राप्त करते हुये अज्ञात मृतक की पहचान रामनगर निवासी रोहित सिन्हा के रूप में हुई। तुरंत ही परिजनो एवं गवाहो के समक्ष पुलिस टीम द्वारा पंचनामा कार्यवाही किया गया, तत्पष्चात पुलिस अधीक्षक महोदय के मार्गदर्षन में एक विषेष टीम गठित की गई जिसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति मनीषा ठाकुर रावटे के नेतृत्व में उप पुलिस अधीक्षक श्रीमति मोनिका सिंह परिहार, थाना प्रभारी कवर्धा उप निरीक्षक गीतांजली सिन्हा व गठित टीम के साथ सायबर सेल सउनि चन्द्रकांत तिवारी की टीम को अलग-अलग कार्य में लगाया गया।
दौरान विवेचना के मृतक की पत्नि से पूछताछ करने पर मृतक के एक अन्य महिला से अवैध संबंध होना ज्ञात हुआ जिसके कारण पति पत्नि में आपस में विवाद भी होते रहता था। मृतक के पास बुलेट वाहन होने की जानकारी प्राप्त होने पर इलाके में मुखबिर तंत्र को मजबूत किया गया, साथ ही आसपास क्षेत्र के व्यक्तियो से पूछताछ किया गया। जिस पर रात्रि में एक अन्य व्यक्ति के साथ मृतक को साथ में जाना एवं उसके साथ होना पता चला। टीम के द्वारा उस अज्ञात व्यक्ति की पहचान अपचारी बालक के रूप में होने पर उसे घेराबंदी कर पकड़ा गया, फिर उसने पूछताछ में बताया कि उसकी बहन के साथ मृतक का अवैध संबंध था और कुछ दिनो पूर्व उसकी बहन से उसका ब्रेकअप हो गया था, लेकिन उसके बाद भी वह उससे मिलने के लिये लगा रहता था, इसलिये वह उसे मारने की योजना बना रहा था। अपचारी बालक ने योजनाबद्व तरीके से पूरी तैयारी के साथ मृतक रोहित सिन्हा को फोन कर दारू पीने के लिये बुलाया और मृतक के मोटर सायकल से ही भोजली तालाब के पास पहुॅंचकर तालाब पार में बैठ कर दारू पीये। उसी दौरान अपचारी बालक मृतक के मुॅंह से अपनी बहन एवं मॉं के बारे में अपषब्द सुनकर सहन नही कर सका और अपने पास रखे हुये चाकूनुमा कटर से गले को काट कर धक्का देकर गिरा दिया। फिर भी मृतक द्वारा उठने की कोषिष किया गया तो अपचारी बालक ने उसके गले में लटके हुआ पंछा से गला घोट दिया और फिर अपने साथ लाये हुये पेट्रोल को छिड़ककर आग लगा दिया और फिर मृतक की गाड़ी लेकर वहा से भाग गया। इस समय अपचारी बालक मृतक के पहने हुये सोने की चैन और अंगूठी को भी निकाल लिया। अपचारी बालक द्वारा पूरी घटना को छुपाने के उददेष्य से मृतक के सामान को छुपाने के लिये अपने दोस्त का सहारा लिया और उसके घर जाकर मृतक की मोटर सायकल एवं सोने की अंगूठी उसके पास छुपा दिया। प्रकरण में अपराध छुपाने की नीयत से किये जाने वाले दुर्भावनापूर्ण कार्य हेतु एक अन्य अपचारी बालक को अभिरक्षा में लिया गया है।
आरोपी पूर्व से ही मृतक रोहित सिन्हा एवं अपनी बहन के अवैध संबंध के कारण मृतक रोहित सिन्हा की हत्या करने की योजना बना रहा था। हत्या में प्रयुक्त चाकूनुमा कटर, सोने की अगूठी को पुलिस के द्वारा जप्त कर लिया गया है। दोनो अपचारी बालको को अभिरक्षा में लिया गया हैं।
उक्त कार्य में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति मनीषा ठाकुर रावटे के नेतृत्व में उप पुलिस अधीक्षक श्रीमति मोनिका सिंह परिहार, उप पुलिस अधीक्षक नक्सल संजय ध्रुव, उप पुलिस अधीक्षक पंकज कुमार पटेल, उप पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र बेन्ताल, थाना प्रभारी कवर्धा उप निरीक्षक गीताजंली सिन्हा, उप निरीक्षक नवरतन कष्यप, उप निरीक्षक भुनेष्वरी साहू, सउनि नरेन्द्र सिंह, सउनि रूपेन्द्र सिंह, सउनि चन्द्रकांत तिवारी, सउनि आषीष सिंह, सउनि दर्षन साहू व गठिम टीम के सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा। त्वरित कार्यवाही करने के लिये श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा गठित टीम के सदस्यो को पॉंच हजार रूपये ईनाम देने की घोषणा किये है।

228 Views

You cannot copy content of this page