चौपाल लगाकर लोगों के बीच पहुंचा कवर्धा जिला प्रशासन

 

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा द्वारा जिले के लोगों की सुविधा को लेकर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। लोगों के आवेदनों पर समय पर निराकरण किया जा रहा है। खास बात यह है कि लोगों द्वारा किए गए सभी प्रकार के आवेदन पर कलेक्टर का नजर रहा है।

कवर्धा। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा द्वारा जिले के लोगों की सुविधा को लेकर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। लोगों के आवेदनों पर समय पर निराकरण किया जा रहा है। खास बात यह है कि लोगों द्वारा किए गए सभी प्रकार के आवेदन पर कलेक्टर का नजर रहा है। शिविर व चौपाल का आयोजन कर जिला प्रशासन लोगों के बीच पहुंच रहा है।

कलेक्ट्रेट से मिली जानकारी अनुसार जनचौपाल, जनदर्शन समेत प्रतिदिन आने वाले आवेदनों पर उसी दिन ही कलेक्टर द्वारा संबंधित विभाग को फारवर्ड किया जाता है। इतना ही नहीं संबंधित विभाग से यह भी जानकारी ली जाती है कि उस आवेदन में अब तक क्या कार्रवाई की गई है।

लोगों के आवेदनों के साथ‑साथ कलेक्टर शर्मा द्वारा अन्य योजनाओं को लेकर भी दिशा निर्देश दिया जा रहा है। हाल ही में उन्होंने सुराजी ग्राम योजना और गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि गोठानों में मल्टीएक्टीविटी कार्य प्रारंभ कर ग्रामीण आद्यौगिक पार्क के रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए गोठानों में स्व सहायता समूह के लिए विभिन्ना गतिविधियां प्रारंभ करने के निर्देश दिए। इससे महिलाओं को लाभ होना चाहिए। सभी अधिकारी रूचि लेकर कार्य करें। लक्षित गोठान को मल्टीएक्टीविटी सेंटर बनाने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी जाए।

सीएम के आने से पहले की तैयारी

गोरतलब है कि इसी मई माह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का विधानसभावार मैदानी क्षेत्र का भम्रण कर रात्रि विश्राम करेंगे। इस दौरान वे आम जनता से भी भेंट‑मुलाकात करेंगे। कलेक्टर ने इसकी प्रारंभिक तैयारी करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के कबीरधाम जिले में आगमन के पूर्व सभी राजस्व अधिकारी अपने-अपने तहसील, अनुविभाग के अंतर्गत राजस्व प्रकरणों का निराकण शीघ्र कर लेवें। अविवादित, नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, फौती के प्रकरण नवीन, मजदूरी भुगतान, आरबीसी-6–4 के अंतर्गत आर्थिक सहायता राशि का भुगतान, राशन कार्ड का निर्माण आदि शामिल है। इसी कारण से सभी प्रकार के काम किए जा रहे हैं।

गांव के शिविरों में जाकर सुन रहे समस्या

राजस्व की समस्या को दूर करने के लिए ग्रामीण अंचल में विशेष राजस्व शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस शिविर में खुद कलेक्टर पहुंच रहे हैं। इस कारण से ग्रामीणों में कलेक्टर के कामकाज को लेकर तारीफ हो रही है। ग्रामीण भी सीधे कलेक्टर से चर्चा कर करते हैं। कलेक्टर द्वारा भी ग्रामीणों से प्राप्त समस्या, शिकायत और मांग का निराकरण भी किया जा रहा है। साथ ही शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। गांवों में जनसमान्य द्वारा विभिन्न प्रकार की मांग में संभव होने पर संबंधित विभाग द्वारा पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

महिला स्वसहायता समूहों को आर्थिक फायदा हुआ

कलेक्टर के निर्देश बाद गोठानों में विशेष ध्यान दिया जा रहा है। महिला स्वसहायता समूहों पर विशेष फोकस किया जा रहा है। ताकि महिलाओं को आर्थिक फायदा हो सके। इसके अंर्तगत दोना पत्तल, पैकेजिंग मशीन, सिलाई मशीन, महुआ से विभिन्ना उत्पाद तैयार करना जैसे अनेक कार्य कराए गए।

राजस्व पर सबसे ज्यादा फोकस

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा राजस्व को लेकर पूरे प्रदेश में जाने जाते है। उनके इस काम का असर जिले के राजस्व विभाग में हुआ है। यहीं कारण है कि राजस्व के ज्यादातर प्रकरण अब कम हो गए है। कलेक्टर के निर्देश पर नामांतरण, बंटवारा एवं सीमांकन के प्रकरणों का अभियान चलाया गया। इसके अलावा पटवारियों की टीम बनाकर समय सीमा में निराकरण करने का काम किया गया। जिले में राजस्व संबंधित मामले का निराकरण से सीधे लोगों को फायदा हो रहा है।

कृषि व धान खरीदी में मिली पहचान

कबीरधाम जिला कृषि प्रधान जिला है। यहां का आर्थिक सेक्टर पूरी तरह से कृषि के ऊपर ही डिपेंड है। यही कारण है कि कलेक्टर द्वारा कृषि पर ही विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने हाल में ही निर्देश दिए है कि आगामी बारिश को ध्यान में रखते हुए किसानों को खरीफ फसल के लिए धान बीज, खाद, बिजली की समस्या नहीं होनी चाहिए। इसके लिए पहले ही तैयारी कर ली जाए।

स्वास्थ्य व शिक्षा पर भी नजर

इसी तरह कलेक्टर द्वारा जिले के स्वास्थ्य व शिक्षा पर भी नजर है। उनके मार्गदर्शन में स्वास्थ्य केंद्रों में दवाइयां सहित मेडिकल किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो रहे है। साथ ही उनके द्वारा सभी केन्द्र में स्टॉक रजिस्टर संधारित करने कहा है। इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में भी कई प्रकार के काम किए है। इनमें प्रमुख रूप से कबीरधाम जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल अंतर्गत कवर्धा, बोड़ला, पंडरिया व सहसपुर लोहारा में प्रारंभ कराया गया है।

समस्याओं को किया जा रहा दूरः कलेक्टर

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कहा कि जन समस्याओं के निराकरण के लिए राजस्व निरीक्षक मंडल मुख्यालय स्तर पर जनचौपाल आयोजित किए जा रहे हैं। जहां नागरिकों से आवेदन प्राप्त कर उनके समस्याओं का गुणवत्तापूर्ण तत्काल निराकरण किया जा रहा है। जिसकी मानिटरिंग अनुविभागीय अधिकारी कर रहे हैं। विभिन्ना विभागों द्वारा अपने विभागीय योजनाओं का आंकलन किया जाता है। प्रत्येक समय सीमा की बैठक में आने वाली समस्याओं की जानकारी प्राप्त कर उसे दूर किया जाता है। ग्रीष्म ऋतु के दौरान जिले में पेयजल समस्या वाले क्षेत्रों का अधिकारियों द्वारा भ्रमण किया जा रहा है और उन क्षेत्रों में पानी की समस्याओं को दूर करने के लिए समुचित उपाय किए जा रहे हैं। इसके अलावा भी कई प्रकार के काम किए जा रहे हैं।

 

23 Views

You cannot copy content of this page