कवर्धा। मलेरिया प्रभावित गांव में बांटे गए मच्छरदानी

 

मलेरिया प्रभावित गांव में बांटे गए मच्छरदानी

जिले के बोड़ला ब्लाक के ग्राम जामुनपानी में 30 आदिवासी मलेरिया बीमारी से पीड़ित हैं। इस मामले को लेकर जिला प्रशासन ने संज्ञान में लिया है।

कवर्धा। जिले के बोड़ला ब्लाक के ग्राम जामुनपानी में 30 आदिवासी मलेरिया बीमारी से पीड़ित हैं। इस मामले को लेकर जिला प्रशासन ने संज्ञान में लिया है। मंगलवार को कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, बोड़ला एसडीएम पीसी कोरी, स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डा.एस मुखर्जी, डीपीएम सृष्टि शर्मा, तुलिका शर्मा समेत स्वास्थ्य विभाग की टीम जामुनपानी गांव पहुंचे हुए थे। इस जिला प्रशासन की टीम के साथ नईदुनिया की टीम भी मौजूद थीं।

मलेरिया प्रभावित गांव जामुनपानी में कलेक्टर के आते ही ग्रामीणों खुश हो गए। उन्होंने कई ग्रामीणों से सीधे वन‑टू-वन चर्चा की। इस मौके पर उन्होंने अपने सभी अफसरों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि ग्रामीणों की उपचार को लेकर किसी भी प्रकार से लापरवाही नहीं होनी चाहिए। सबसे बड़ी राहत की बात है कि अब तक मिले 30 मलेरिया के मरीज रिकवर होने की ओर है। कुछ मरीज का उपचार उनके ही घर पर हो रहा है। वहीं, कुछ का उपचार जिला अस्पताल में हो रहा है। ये जल्द ही रिकवर होने के बाद घर आएंगे। इस दौरान मौके पर कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने गांव के करीब 300 से अधिक लोगों को निश्शुल्क मच्छरदानी का वितरण किया है।

कलेक्टर समेत उनके अफसर नईदुनिया भी टीम कवर्धा से मंगलवार दोपहर 12.30 जामुनपानी गांव के लिए निकली। इस गांव में पहुंचने के लिए करीब 45 मिनट लगा। मौके पर कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने लोगों से चर्चा की। ये गांव तीन अलग-अलग टोलों में बंटी हुई है। बताया जा रहा है कि इसी एक टोले में मलेरिया के 30 मरीज मिले हैं। वहीं, गांव में सभी प्रकार की सुविधा मौजूद है। खास बात यह है कि गांव में रूका हुआ पानी नहीं है, जिससे की मलेरिया के मच्छर पनप सके। हालांकि गांव में पाउडर का छिड़काव जरूर किया जा रहा है।

अब तक 15 हजार से अधिक सैंपल

मौके पर स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने कलेक्टर को बताया कि पूरे जिले में मलेरिया को संवेदशीलता को देखते हुए जनवरी माह से अब तक 15 हजार से अधिक सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं, मई महीने में अकेले जामुनपानी मे करीब 915 सैंपल लिए हैं। इसके साथ ही हाट बाजार में मलेरिया के लक्षण वाले मरीजों का सैंपल भी लिया जा रहा है। इसके अलावा एतिहातन जामुनपानी गांव में हर दो दिन के भीतर भी सैंपल लिया जा रहा है। इस दौरान कई ग्रामीणों द्वारा मलेरिया को लेकर लापरवाही भी देखने को मिली है। दरअसल कई ग्रामीण जिला प्रशासन द्वारा दिए गए निश्शुल्क मच्छरदानी का उपयोग मछली पकड़ने के लिए किया जा रहा है। इस पर अफसरों ने ग्रामीणों को समझाया।

मलेरिया से बचाव को लेकर पांच सेक्टर बनाए गए

जिले में मलेरिया बीमारी के बचाव को लेकर कलेक्टर द्वारा विशेष ध्यान दी जा रही है। यही कारण है कि पूरे जिले में मलेरिया प्रभावित पांच सेक्टर बनाए गए हैं। इसमें पंडरिया ब्लाक अंतर्गत दो सेक्टर कोदवागोडान व कुकदूर है। इसी प्रकार बोड़ला ब्लाक अंतर्गत रेंगाखार जंगल, चिल्फी व तरेगांव जंगल को सेक्टर बनाया गया है। इन पांच जगहों में जिला प्रशासन द्वारा विशेष ध्यान दिया जा रहा है। क्योंकि, आने वाले बारिश के दिनों में मनेरिया के मच्छर ज्यादा पनपते हैं। ऐसे में अभी से प्रशासन की ओर से तैयारी की जा रही है।

कलेक्टर ने की चर्चा

गांव के 16 वर्षीय मलेरिया से पीड़ित एक बालिका और उनके परिजनों से कलेक्टर ने चर्चा की। बालिका ने बताया कि वे अब पहले से बेहतर है। स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके अलावा प्रतिदिन उनकी निगरानी की जा रही है। कलेक्टर ने इस बधाी की जल्द स्वास्थ्य होने की कामना की।

संक्रमित परिवारों से चर्चा

कलेक्टर ने इस गांव के एक मलेरिया संक्रमित परिवार से चर्चा की। परिवार के लोगों ने बताया कि उनके यहां मच्छरदानी का उपयोग किया जाता है। फिर भी जिला प्रशासन की ओर से नए मच्छरदानी दिया जा रहा है। इसके अलावा कई प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा दी जा रहीं है। इससे वे खुश है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय पर इलाज और दवाई देने से परिवार सुरक्षित है

जामुनपानी गांव के कुल 30 लोग संक्रमित

जामुनपानी गांव के कुल 30 लोग संक्रमित है। कलेक्टर ने इन सभी पीड़ित मरीज के घर तक पहुंचे है। मौके पर एक-एक लोगों से चर्चा कर अब तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जा रहे काम को लेकर चर्चा किया है। इसके अलावा कलेक्टर ने मौके पर ग्रामीणों को किसी भी प्रकार से कोई दिक्कत हो तो तुरंत अवगत कराने कहा है।

कलेक्टर का जताया आभार

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा को अपने बीच पाकर यहां के ग्रामीण खुश हो गए है। ग्रामीणों ने बताया कि उनके दुख के घड़ी में जिले के सबसे बड़े अफसर पहुंचे हुए थे। ये चर्चा एक घर में कलेक्टर के साथ ग्रामीणों ने की है। ग्रामीणों ने कलेक्टर द्वारा किए जा रहे इस विपदा के घड़ी में मदद को लेकर हर्ष व्यक्त किया है।

 

17 Views

You cannot copy content of this page